क्रुणाल पांडे पढ़ाई में बहुत कमजोर थे: पिता ने छोड़ा था शहर बच्चों को सफल क्रिकेटर बनाने के लिए

डेब्यू मैच के दौरान भावुक क्रुणाल पांड्या

पुणे के मैदान में खेले गए भारत और इंग्लैंड के बीच पहले वनडे मुकाबले में अपना डेब्यू करने वाले क्रुणाल पांडे का आज जन्मदिन है। उन्होंने अपने डेब्यू मुकाबले में बेहद ही शानदार प्रदर्शन करते हुए एक अर्धशतक पारी खेली थी। उनके जीवन का ये 30वा जन्मदिन है। मैच शुरू होने से पहले तथा खत्म होने के बाद भी वह बेहद भावुक नजर आए क्योंकि वह अपने पिता को याद कर रहे थे। साथ ही साथ मैच के अंत में उन्होंने अपनी अर्धशतक पारी को अपने पिता को डेडिकेट किया।

डेब्यू मैच के दौरान भावुक क्रुणाल पांड्या

भारतीय टीम में 9 साल बाद ऐसा मौका आया जब दो भाइयों की जोड़ी एक साथ धमाल मचाते हुए नजर आई हो। इससे पहले यह कारनामा युसूफ पठान और इरफान पठान यह कारनामा कर चुके हैं। दोनों ही भाइयों की सफलता के पीछे उनके पिता का सबसे अहम् योगदान था। तभी दोनों ही भाई अपनी सफलता के श्रेय हमेशा अपने पिता को देते हैं। अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए दोनों भाइयों ने खूब मेहनत और संघर्ष किया ,ताकि वह अपने सपनो को साकार कर सकें। इस वर्ष की 16 जनवरी को दोनों ही भाइयों ने अपने पिता को खो दिया था।

See more-: विराट कोहली ने T20I क्रिकेट जगत में रचा एक और इतिहास 

अचानक सुबह सुबह दिल का दौरा पड़ने के कारण उनके पिता की मौत हो गई थी। पिता की मौत के कारण दोनों ही भाइयों का मनोबल बहुत ही टूट चुका था, लेकिन उन्होंने सभी परेशानिओ से लड़ते हुए अपने आने वाले सभी मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया और इसका श्रेय भी अपने पिता को दिया। दोनों ही खिलाड़ियों को आईपीएल से एक नई पहचान मिली जिसके चलते दोनों को ही भारतीय टीम में डेब्यू करने का मौका मिला है। हार्दिक पांडे पिछले कई समय से भारतीय टीम के एक अहम खिलाडी बने हुए हैं।क्रुणाल पांडे पिछले कई समय से टी -20 टीम का हिस्सा थे। लेकिन उन्हें वनडे टीम में खेलने का मौका नहीं मिला था।

डेब्यू मैच के दौरान भावुक क्रुणाल पांड्या
डेब्यू मैच के दौरान भावुक क्रुणाल पांड्या

घर की फाइनेंसियल हालत अच्छा न होने के बावजूद भी हिमांशु पांडे ने अपने दोनों बेटों को किरण मोरे क्रिकेट एकेडमी में भेजा जहां पर उन दोनों का क्रिकेटर बनने की यात्रा शुरू हुई। और आज वह दोनों एक सफल क्रिकेटर हैं और अपने जीवन में नई बुलंदियों को छू रहे हैं। एक न्यूज़ चैनल पर इंटरव्यू के दौरान क्रुणाल पांडे ने खुद बताया था कि वह कक्षा दसवीं में 3 बार फेल हो चुके थे। लेकिन उन्होंने उसके बावजूद भी हार नहीं मानी और दमदार वापसी करते हुए दसवीं पास की ,साथ ही साथ कॉलेज भी पास किया

You can also see-: क्या बन सकती है दो-दो टीम इंडिया

कुणाल पांडे ने अपने जीवन में पैसों की तंगी की वजह से बहुत ही संघर्षों का सामना करना पड़ा है। उनके जीवन में एक ऐसा मोड भी आया था जब उनके पास सरकारी नौकरी के ट्रायल के लिए लेटर भी आया था। लेकिन उसी दिन सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए भी ट्रायल मैच था। वह अपने जीवन के दोहराहे पर खड़े थे ,लेकिन उन्होंने उस लेटर को फाड़ दिया और और अपने दमदार खेल दिखाया सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के ट्रायल मैच में। और बड़ौदा की टीम में शामिल हुए, उनके छोटे भाई हार्दिक पांडे पहले से ही बड़ौदा की टीम का हिस्सा थे “For today ipl match prediction visit our website.”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *